UP Election 2022 : 2017 में हारी हुई सीटों के लिए बीजेपी ने बनाई रणनीति, ऐसे करेंगे आगाज

UP Election 2022 : 2017 में हारी हुई सीटों के लिए बीजेपी ने बनाई रणनीति, ऐसे करेंगे आगाज

 

UP Election 2022 : 2017 में हारी हुई सीटों के लिए बीजेपी ने बनाई रणनीति | अगले साल 2022 की शुरूआत में यूपी विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) होने वाले हैं, जिसके लिए सभी राजनीकित पार्टियां चुनावी अखाड़े में उतर चुकी हैं और अपनी-अपनी रणनीति बनाने में लगी हुई हैं. ऐसे में साल 2017 (Uttar Pradesh Assembly Election 2017) में यूपी में बीजेपी (Bharatiya Janata Party) ने जिन सीटों पर अपनी हार दर्ज करवाई थी वो दोबार ऐसा कोई कदम उठाने के मुड़ में नजर नहीं आ रही हैं. इसी के लिए बीजेपी ने भी अपनी रणनीति बुननी शुरू कर दी है |

UP Election 2022 : 2017 में हारी हुई सीटों के लिए बीजेपी ने बनाई रणनीति

UP Election 2022 : 2017 में हारी हुई सीटों के लिए बीजेपी ने बनाई रणनीति, ऐसे करेंगे आगाज

2017 में हारी हुई सीटों के लिए बीजेपी ने बनाई रणनीति

जानकारी के लिए बता दें कि साल 2017 के चुनाव में बीजेपी ने विधानसभा (Uttar Pradesh Assembly Election 2017) की 403 में से 312 सीटों पर जीत दर्ज की थी. उस साल चुनाव में बीजेपी (BJP) 78 सीटों पर हार गई थी, जिसके चलते वो अगले साल होने वाले चुनावों के लिए अपना हर कदम फूंक-फूंक कर रख रही है |

बताया जा रहा है कि इस बार के चुनाव (UP Assembly Election 2022) के लिए बीजेपी (BJP) ने इन सभी सीटों के लिए एक खास रणनीति बनाई है. सामने आ रही जानकारी के मुताबिक इस बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) के सभी कार्यक्रम इन विधानसभा सीटों (Assembly Seats) पर लगाए जा रहे हैं.

Uttar Pradesh में हारी हुई सीटों पर कब्जा जमाना चाहती है बीजेपी 

वो इन सीटों पर अपने विकास के कामों का लोकार्पण और शिलान्यास कर रहे हैं. साथ ही सामने आ रही खबरों की माने को ऐसी 19 सीटों पर वो अबतक कई बड़े कार्यक्रम भी कर चुके हैं और चुनावों (Assembly Election) से पहले करने वाले हैं. अगर बीजेपी के इस बारे के कार्यक्रम पर नजर डाली जाए तो पार्टी (BJP) इस बार कम से कम 55 सीटों अपनी जीत दर्ज करवाना चाहती है|

कुल मिला कर देखा जाए तो बीजेपी इन सीटों को जीतकर उन सीटों की भरपाई करना चाहती है, जिनको उन्होंने साल 2017 में गवा दिया था. इसी को देखते हुए बीजेपी के दिग्गज नेता यूपी की तमाम सीटों पर रैलियां निकाल रहे हैं और कार्यक्रम को संबोधित कर रहे हैं.

उत्तरप्रदेश में हारी हुई सीटों के लिए बनाई ये रणनीति

साल 2017 में बीजेपी को बदायूं की सहसवान विधानसभा सीट पर हार का सामना करना पड़ा था, जिसके बाद वो इस बार कोई गलती नहीं करना चाहती, जिसके चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Uttar Pradesh CM Yogi Adityanath) 9 नवंबर को सहसवान पहुंचे और वहां उन्होंने बड़ी जन सभा को संबोधित किया. इसके अलावा योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने उसी दिन शाहजहांपुर की जलालाबाद विधानसभा क्षेत्र (Jalalabad Assembly Constituency of Shahjahanpur) में एक कार्यक्रम को संबोधित किया, जहां उन्होंने करीबन 269 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शुभारंभ किया.

इन सीटों पर कर रही है विकास कार्य 

इसके अलावा बीजेपी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Former BJP National President Amit Shah) ने 13 नवंबर को आजमगढ़ में राज्य विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया. साथ ही योगी आदित्यनाथ (Uttar Pradesh CM Yogi Adityanath) 8 नवंबर को शामली गए थे. वहां उन्होंने 425 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण किया. इसके अलावा योगी आदित्यनाथ इटावा में दो जगह भी गए, जिसमें एक इटावा सिटी सीट बीजेपी ने साल 2017 में जीती हासिल की थी, लेकिन दूसरी सीट जसवंतनगर हार गए थे. अब देखना ये है कि क्या आने वाले यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) में बीजेपी की ये रणनीति कुछ काम आती है या नहीं.


Also Read:

Post Office KVP Yojana में जमा करने से दोगुना हो जाएगा आपका पैसा, जानें ब्याजदर


Source Link


 

CofaNews

All Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *