डिलीवरी को गति देने के लिए अमेज़न ने नेटवर्क बनाया, हॉलिडे क्रंच को हैंडल किया

मिलिए पराग अग्रवाल से जो बने है ट्विटर के नए सीईओ

Star Health IPO : क्या आपको निवेश करना चाहिए? जानिए अभी

Omicron वैरिएंट के मरीजों के ऑक्सीजन स्तर में नहीं दिखी गिरावट

‘जो शीशे के घरों में रहते हैं…’: नवजोत सिंह सिद्धू ने चुनावी वादों को लेकर अरविंद केजरीवाल पर तंज कसा

MP में पेरेंट्स ध्यान दें…: प्राइवेट स्कूलों में अब पूरी फीस भरनी होगी, सरकार ने सिर्फ ट्यूशन फीस लिए जाने के आदेश वापस लिया

0 0
Read Time:3 Minute, 23 Second

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Private School Operators Will Be Able To Charge Full Fees In MP; Government Withdrew The Order To Charge Only Tuition Fees

भोपाल14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मध्यप्रदेश में अब प्राइवेट स्कूल संचालक पूरी फीस ले सकेंगे। इस संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग ने सोमवार को नए आदेश कर दिए हैं। साथ ही इसमें कहा गया है कि नए आदेश जारी होने के बाद 8 जुलाई 2021 में जारी आदेश रद्द हो गया है।

एसोसिएशन ऑफ अन एडेड प्राइवेट स्कूल के उपाध्यक्ष विनी राज मोदी ने बताया कि आदेश जारी होने के बाद से स्कूल द्वारा पूरी फीस ली जा सकती है। सिर्फ मध्यप्रदेश में ही अब तक ट्यूशन फीस ली जा रही है, जबकि देश भर में प्राइवेट स्कूल पूरी फीस ले रहे हैं। नए आदेश के बाद फीस को लेकर भ्रम अब दूर हो गए हैं।

विनी राज मोदी ने बताया कि उच्च न्यायालय जबलपुर में चल रहे मामले में 9 नवंबर को कोर्ट ने सरकार को फटकार लगाते हुए आदेशित किया था। कोर्ट ने कहा कि 3 मई 2021 को पारित आदेश की अनदेखी करते हुए 8 जुलाई 2021 को मध्यप्रदेश में सिर्फ शिक्षण शुल्क लिए जाने संबंधी आदेश जारी किया है।

जवाब में सरकार ने उच्च न्यायालय में 12 नवंबर को हलफनामा दिया था कि वे 15 दिन के अंदर उचित कार्यवाही करेंगे। इसी तारतम्य में सोमवार को सरकार द्वारा 8 जुलाई को पारित आदेश तत्काल प्रभाव से वापस ले लिया है।

स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा यह आदेश जारी किया गया।

स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा यह आदेश जारी किया गया।

उच्चतम न्यायालय ने उपरोक्त वर्णित मामले में ये निर्देश दिए हैं। इसमें कहा गया कि सत्र 20-21 के लिए निजी विद्यालय कुल फीस का 85% ही ले सकेंगे, किंतु सत्र 21-22 के लिए सामान्य लागू फीस ली जाएगी। किन्तु मध्यप्रदेश शिक्षा विभाग द्वारा इन आदेशों के विपरीत 8 जुलाई 2021 को मध्यप्रदेश के निजी स्कूलों को सत्र 21-22 में भी केवल शिक्षण शुल्क ही लेने का आदेश जारी किया था।

इसके खिलाफ एसोसिएशन ऑफ अन एडेड प्राइवेट स्कूल द्वारा न्यायालय में याचिका दायर की गई थी। इसके फलस्वरूप सरकार ने अपना आदेश वापस ले लिया है। सत्र 21-21 में लिए जाने वाले शुल्क को लेकर सभी भ्रम समाप्त हो गए हैं। निजी स्कूल सत्र 21-22 के लिए पहले से निर्धारित फीस ले सकता है।

यह 8 जुलाई 2021 में आदेश जारी किया था।

यह 8 जुलाई 2021 में आदेश जारी किया था।

खबरें और भी हैं…

Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English Hindi Hindi