हिमाचल से टीचर लाया पंजाब में कोरोना: होशियारपुर में एक सरकारी स्कूल का टीचर और 32 बच्चे पॉजिटिव, 3 दिन में 100 से ज्यादा लोग मिले संक्रमित

सुनील राणा/जालंधर36 मिनट पहले

पंजाब के होशियारपुर जिले में एक ही सरकारी स्कूल के 32 स्टूडेंट्स और एक टीचर कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। पंजाब-हिमाचल सीमा पर बसे पलाहड़ गांव के सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले ये बच्चे अपने एक टीचर के संपर्क में आने से संक्रमित हुए हैं, जो हिमाचल प्रदेश के एक कस्बे से रोजाना स्कूल आता-जाता है।

कुछ दिन पहले इस टीचर में कोरोना के लक्षण पाए गए थे। इसी आधार पर जब स्वास्थ्य विभाग की टीम ने स्कूल के छात्र-छात्राओं और स्टाफ के सैंपल लिए तो उनमें से 32 स्टूडेंट्स और एक अन्य टीचर कोरोना पॉजिटिव निकले। टीचर और इन बच्चों के संपर्क में आने वाले लोगों के भी टेस्ट किए गए तो कुल संक्रमितों की संख्या 100 के पार पहुंच गई है।

556 स्टूडेंट्स का कराया गया था कोरोना टेस्ट
पलाहड़ के सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल में तैनात एक टीचर हिमाचल के ऊना जिले के दौलतपुर कस्बे में रहता है। 13 नवंबर को वह टीचर बीमार हो गया। उसके बाद जांच कराने पर वह कोरोना पॉजिटिव निकला। यह जानकारी मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने पलाहड़ स्कूल में पढ़ने वाले 556 छात्र-छात्राओं, 22 अध्यापकों और तीन मिड-डे मील वर्कर्स का टेस्ट कराने का फैसला लिया। इन लोगों के सैंपल की जांच में एक टीचर और 32 स्टूडेंट्स की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई।

सत्ताधारी विधायक का पैतृक गांव होने से एडमिनिस्ट्रेशन तत्काल एक्टिव
पलाहड़ पंजाब में सत्ताधारी दल कांग्रेस के विधायक अरुण डोगरा का पैतृक गांव है। अरुण होशियारपुर जिले की ही दसूहा विधानसभा सीट से विधायक हैं। इसके चलते एडमिनिस्ट्रेशन इस गांव में कोरोना की खबर मिलते ही तत्काल एक्टिव हो गया।

संपर्क में आने वाले 67 लोग भी पॉजिटिव मिले, 77 अन्य के सैंपल भेजे
तलवाड़ा सरकारी अस्पताल की एसएमओ डॉ. अनुपिदर मठौन और डॉक्टर लश्कर सिंह ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग ने छात्रों के अलावा हिमाचल से आने वाले टीचर के संपर्क में आए तकरीबन 252 अन्य लोगों के भी सैंपल लिए थे। इनमें टीचर के सीधे संपर्क में आने वाले एक अध्यापक और 32 बच्चों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सोमवार को ही क्षेत्र में 100 से अधिक लोगों के सैंपल लिए गए थे, जिनमें से 67 कोरोना पॉजिटिव निकले। मंगलवार को भी 77 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए।
स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप की स्थिति
एक ही स्कूल से कोरोना के 33 केस आने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप की स्थिति है। इलाके के लोग भी सहमे हुए हैं, क्योंकि ये स्टूडेंट्स रूटीन में अन्य बच्चों और परिवारवालों के संपर्क में रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग पूरे पलाहड़ गांव को ही कंटेनमेंट जोन में बदलने की तैयारियां कर रहा है। इस एरिया में विभाग की टीमें लगातार एक्टिव हैं।

पलाहड़ सरकारी स्कूल, जहां बच्चे कोरोना संक्रमित मिले हैं।

पलाहड़ सरकारी स्कूल, जहां बच्चे कोरोना संक्रमित मिले हैं।

मुकेरियां के एसडीएम ने बंद कराया स्कूल
मुकेरियां के एसडीएम नवनीत बल ने बताया कि पलाहड़ स्कूल बंद करवा दिया गया है। कोरोना पॉजिटिव आए लोगों को आइसोलेशन में रखा गया है। जब तक इन सभी की रिपोर्ट निगेटिव नहीं आती, तब तक न तो स्कूल खोला जाएगा और न ही इन्हें किसी अन्य के संपर्क में आने दिया जाएगा। कोरोना मरीजों के संपर्क में आए लोगों की जांच चल रही है। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग में जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है, उन्हें आइसोलेट किया जा रहा है। पलाहड़ क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन बनाने पर भी विचार चल रहा है।

कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करके सैंपलिंग जारी
मुकेरियां के ब्लॉक नोडल अधिकारी डॉक्टर हरमिंदर सिंह ने बताया कि स्कूल के जो 32 छात्र कोरोना पॉजिटिव आए हैं, उनकी कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करके सैंपलिंग की जा रही है। स्कूल टीचर के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद बच्चों के टेस्ट शुरू कराए गए थे। इसमें पहले दिन 12, दूसरे दिन 10 और मंगलवार को तीसरे दिन 10 बच्चों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

गृह मंत्रालय ने जारी की हिदायतें
इस बीच केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी कोरोना के बढ़ते मामलों और इसके नए ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को एडवाइजरी जारी की है। इस एडवाइजरी में सख्त निर्देश दिए गए हैं कि यदि कोई व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो उसकी पूरी कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की जाए। उसके संपर्क में आने वाले सभी लोगों की सैंपलिंग सुनिश्चित की जाए।

गृह मंत्रालय ने विदेश से आने वाले, खासकर अफ्रीकी देशों से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग अच्छी तरह से करने के निर्देश दिए हैं। ओमिक्रॉन वैरिएंट जिसे बी-1 भी कहा जा रहा है के कई मामले साउथ अफ्रीका, बोत्सवाना और हॉन्गकॉन्ग में मिले हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार कोरोना का नया वैरिएंट पुराने वैरिएंट के मुकाबले ज्यादा खतरनाक है और तेजी से फैलता है।

खबरें और भी हैं…

Source link

CofaNews

All Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *