सेलिब्रेशन के साइड इफेक्ट्स: रात के पटाखों ने आज बढ़ा दिया पॉल्यूशन लेवल, ऐप से 1 मिनट में चेक करें अपने शहर की एयर क्वालिटी

  • Hindi News
  • Tech auto
  • Air Pollution Monitoring Apps List Update; Check Real Time Air Quality Index (AQI) In India

नई दिल्ली4 घंटे पहले

बीती रात आपने भी जमकर पटाखे फोड़े होंगे। फुलझड़ी, अनार, चकरी, धमाका बम और न जाने क्या-क्या चलाए होंगे। रात को इनकी आवाज और रोशनी से चेहरे पर चमक भी आई होगी। लेकिन इन्हीं फटाखों ने आज आपके शहर की हवा को जहरीला बना दिया है। देशभर में हर साल दिवाली की रात को इतना प्रदूषण होता है कि अगले दिन की सुबह आपको बीमार बना सकती है। ऐसे में आप आज घर से बाहर निकल रहे हैं तब अपने शहर का पॉल्यूशन लेवल यानी AQI (एयर क्वालिटी इंडेक्स) जरूर चेक करें। इस काम को अपने स्मार्टफोन से कर सकते हैं।

पटाखों में अलग-अलग रंग की रोशनी के लिए कई कैमिकल का इस्तेमाल किया जाता है। इनमें से ज्यादातर कैमिकल पर्यावरण के साथ-साथ हमारी सेहत के लिए भी नुकसानदायक होते हैं। जब इन पटाखों के चलाया जाता है तब इनमें निकलने वाला कैमिकल, धुआं हवा में मौजूद डस्ट और पॉल्यूटेंट्स को बढ़ा देते हैं। ये न सिर्फ पॉल्यूशन को बढ़ाते हैं बल्कि आपकी हेल्थ के लिए भी खतरा पैदा करते हैं।

पॉल्यूशन का लेवल स्मार्टफोन ऐप से चेक करें

आपके शहर की हवा कितनी जहरीली या दूषित है इसका पता ऐप के लगाया जा सकता है। गूगल प्ले स्टोर और एपल स्टोर पर ऐसे कई फ्री ऐप्स मौजूद हैं, जो इस काम को चुटकियों में कर देते हैं। बस इन ऐप्स को इन्स्टॉल करके अपने शहर को सिलेक्ट करना है। सबसे पहले हम पॉल्यूशन लेवल चेक करने वाले कुछ ऐप्स के नाम जानते हैं। फिर इनके काम करना का तरीका देखते हैं।

एंड्रॉयड यूजर्स के लिए इन ऐप्स का साइज iOS की तुलना में काफी कम है। हालांकि, एक बार इन्स्टॉल होने के बाद इनमें कुछ अपडेट्स होते हैं, जिसके बाद इनका साइड बढ़ जाता है। जैसे IQAir AirVisual का साइज वैसे तो 27 MB है, लेकिन इन्स्टॉल होने के बाद इसका साइज करीब 70MB हो जाता है। वहीं, जब ऐप का इस्तेमाल शुरू करते हैं तब इसका साइड डेटा के साथ लगातार बढ़ता रहता है।

पॉल्यूशन बताने वाले ऐप्स की वर्किंग प्रोसेस
इन ऐप्स को इन्स्टॉल करने के बाद पहली बार ओपन किया जाता है तब ये कुछ परमिशन मांगते हैं। इसमें आपको लोकेशन और डेटा एक्सेस हो सकता है। आपको लोकेशन एक्सेस देना भी होगा। तभी ये आपके शहर का या आप जहां जा रहे हैं वहां की हवा में मौजूद पॉल्यूशन को ट्रैक करेंगे। ये पॉल्यूशन के हिसाब से शहर को कलर देते हैं। लाइट ग्रीन का मतलब सबसे बेहतर और डार्क रेड यानी सबसे बदतर।

पॉल्यूशन का लेवल कलर कोडिंग से पहचानें

हम IQAir AirVisual ऐप की मदद से भारत के चार शहरों का पॉल्यूशन लेवल यानी AQI (एयर क्वालिटी इंडेक्स) बता रहे हैं। इसमें पुडुपट्टी, पुडुचेरी, मुंबई और दिल्ली को शामिल किया है। पुडुपट्टी का AQI 38 है। इसे ग्रीन कलर दिया गया है। यानी यहां की हवा बहुत बेहतर है। किसी तरह का पॉल्यूशन नहीं है। पुडुचेरी का AQI 55 है। इसे ऑरेंज कलर दिया है। यानी हवा यहां की भी बेहतर है, लेकिन पुडुपट्टी की तुलना में कम। वहीं, देश की आर्थिक राजधानी मुंबई का AQI 177 है। इसे रेड कलर दिया गया है। यानी यहां पॉल्यूशन का लेवल काफी हाई है। वहीं, देश का दिल कहे जाने वाले दिल्ली में AQI 192 है। यहां की हवा किसी धीमे जहर की तरह है।

ऐसे में जब बीती रात जमकर पटाखे फोड़े गए हैं। तो आप इस बात का अंदाजा लगाइए कि इन शहरों की हवा में कितना दूषित हो चुकी होगी। ये हवा इतना खराब तो है कि छोटे बच्चों और बुजुर्गों को बीमार बना दे। ऐसे में आप भी आज के दिन बाहर निकल रहे हैं तब किसी न किसी ऐप की मदद से अपने शहर का पॉल्यूशन लेवल जरूर चेक करें। यदि आपके शहर का कलर सुर्ख लाल आता है तब मास्क पहनकर ही बाहर निकलें।

खबरें और भी हैं…

Source link

CofaNews

All Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *