डिलीवरी को गति देने के लिए अमेज़न ने नेटवर्क बनाया, हॉलिडे क्रंच को हैंडल किया

मिलिए पराग अग्रवाल से जो बने है ट्विटर के नए सीईओ

Star Health IPO : क्या आपको निवेश करना चाहिए? जानिए अभी

Omicron वैरिएंट के मरीजों के ऑक्सीजन स्तर में नहीं दिखी गिरावट

‘जो शीशे के घरों में रहते हैं…’: नवजोत सिंह सिद्धू ने चुनावी वादों को लेकर अरविंद केजरीवाल पर तंज कसा

पद्मश्री अवॉर्ड: अदनान सामी ने आशा भोसले को दिया धन्यवाद, कहा- उन्होंने मेरे करियर में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है

0 0
Read Time:3 Minute, 19 Second

13 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

सिंगर अदनान सामी को सोमवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक के सम्मान पद्मश्री से नवाजा गया। उन्हें नई दिल्ली में आयोजित एक समारोह में पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उन्होंने पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित होने के बाद सिंगर आशा भोसले को धन्यवाद दिया और एक इंटरव्यू में बातचीत के दौरान कहा कि आशा जी ने उनके करियर में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। अदनान सामी पाकिस्तानी फिल्म सरगम ​​(1995) के लीड एक्टर थे, जिसमें आशा भोसले ने एक गाना गाया था। बाद में दोनों ने ‘कभी तो नजर मिलाओ’ के लिए एक साथ गाना गाया था।

अदनान ने दिया आशा भोसले को धन्यवाद

अदनान सामी ने पुरस्कार प्राप्त करने के बाद अपने परिवार और आशा भोसले के प्रति आभार व्यक्त किया और कहा, “मेरे पिता, मेरी मां और मेरी पत्नी रोया (सामी खान) के अलावा, मैं अपने जीवन में मिले सभी लोगों को धन्यवाद देना चाहता हूं। साथ ही, मेरे साथ काम करने वाले सभी लोग, खासकर आशा भोसले, क्योंकि भारत में मेरा पहला रिकॉर्ड उनके साथ एक सॉन्ग था। उन्होंने मेरे करियर में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।”

अदनान के लिए दिल्ली दुनिया में सबसे पसंदीदा जगहों में से एक है

अदनान ने आगे कहा, “यह सम्मान मुझे भारत के लोगों से मिले प्यार के बिना नहीं मिला होता। यह मेरे जीवन के सबसे प्रतिष्ठित और अविश्वसनीय पलों में से एक है और मैं कभी भी इसका धन्यवाद नहीं कर पाऊंगा भगवान इसके लिए काफी हैं…आप जानते हैं कि हम दिल्ली में हैं और यह दुनिया में मेरी सबसे पसंदीदा जगहों में से एक है क्योंकि दिल्ली में मेरे साथ कुछ सबसे आश्चर्यजनक चीजें हुई हैं। मुझे यहां पर ही नागरिकता मिली है। यहीं पर ही मुझे पद्म श्री मिला है। यहां मैं परिवार और दोस्तों के साथ जश्न मना रहे हैं।”

अदनान ने किया इस अवॉर्ड को अपने पेरेंट्स को समर्पित

अदनान कहते हैं, “कभी-कभी आपके पास खुद को व्यक्त करने के लिए शब्द नहीं होते हैं। मैं गवर्मेंट का शुक्रगुजार हुं। लोगों का शुक्रगुजार हुं, क्योंकि उनके बिना कुछ भी संभव नहीं है। मैं इसे अपने पेरेंट्स को समर्पित करता हूं। यह ना केवल एक सम्मान है बल्कि एक जिम्मेदारी भी है, जिसे मैं बखूबी निभाने की कोशिश करूंगा।”

खबरें और भी हैं…

Source by [author_name]

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English Hindi Hindi