डिलीवरी को गति देने के लिए अमेज़न ने नेटवर्क बनाया, हॉलिडे क्रंच को हैंडल किया

मिलिए पराग अग्रवाल से जो बने है ट्विटर के नए सीईओ

Star Health IPO : क्या आपको निवेश करना चाहिए? जानिए अभी

Omicron वैरिएंट के मरीजों के ऑक्सीजन स्तर में नहीं दिखी गिरावट

‘जो शीशे के घरों में रहते हैं…’: नवजोत सिंह सिद्धू ने चुनावी वादों को लेकर अरविंद केजरीवाल पर तंज कसा

कोरोना टीके की दोनों डोज़ ले चुके भारतीयों को सिंगापुर में नहीं होना होगा क्वारंटीन

0 0
Read Time:3 Minute, 56 Second

Quarantine Free Travel: कोरोना वायरस टीके की दोनों डोज़ लगवा चुके भारतीयों को सिंगापुर जाने पर वहां क्वारंटीन में नहीं रहना होगा. सिंगापुर ने भारत, इंडोनेशिया और सऊदी अरब सहित कई और देशों को पूरी तरह से टीका लगाए गए लोगों के लिए क्वारंटीन फ्री एंट्री की अनुमति देने की योजना बनाई है. कोरोना महामारी को लेकर खास सुरक्षा के खयाल से ही सिर्फ पूरी तरह से वैक्सीनेटेड लोगों को ही जाने की इजाजत मिलेगी. 

29 नवंबर से क्वारंटीन फ्री एंट्री 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को एक बयान में कहा है कि इंडोनेशिया और भारत से लोग 29 नवंबर से सिंगापुर में प्रवेश कर सकेंगे, जबकि सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात और कतर के लोगों का स्वागत 6 दिसंबर से किया जाएगा. खास बात ये है कि वयस्कों के साथ 12 वर्ष और उससे कम उम्र के बिना टीकाकरण वाले बच्चे जा सकते हैं. परिवहन मंत्री एस ईश्वरन ने कहा कि सिंगापुर ने सिंगापुर और जकार्ता के बीच प्रतिदिन दो उड़ानों के साथ इंडोनेशिया के साथ व्यवस्था शुरू करने की योजना बनाई है और इसे बढ़ाकर चार कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि चेन्नई, दिल्ली और मुंबई के लिए दो-दो दैनिक उड़ान की योजना है.

टीकाकरण अभियान को लेकर गंभीर

दक्षिण पूर्व एशियाई राष्ट्र ने सितंबर में सामान्य यात्रा के लिए अपनी सीमाओं को धीरे-धीरे फिर से खोलना शुरू कर दिया है. सिंगापुर ने अपनी कोविड शून्य नीति को फिलहाल छोड़ दिया है और कोरोना वायरस के साथ सामान्य जिंदगी बिताने के दृष्टिकोण के लिए खुद को तैयार कर रहा है. हालांकि दूसरे देशों के लोगों को प्रवेश की अनुमति के बाद संक्रमण दर बढ़ने की भी संभावना जताई जा रही है. लेकिन सिंगापुर प्रशासन ने दावा किया है कि वो टीकाकरण को लेकर गंभीर है और हर दिन वैक्सीनेशन की संख्या बढ़ाई जा रही है. वही हर दिन औसतन 2700 संक्रमितों की पहचान की जा रही है. हालांकि प्रशासन का कहना है कि इस हफ्ते महामारी के संक्रमण में काफी कमी आई है.

फिलहाल कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी समेत 13 ऐसे देश हैं जो सिंगापुर के टीकाकृत यात्रा लेन (वीटीएल) के अंतर्गत आते हैं. सोमवार को कोविड-19 मंत्रालयी कार्यबल संवाददाता सम्मेलन में परिवहन मंत्री एस ईश्वरन ने कहा कि सिंगापुर और भारत टीकाकरण प्रमाणपत्रों को परस्पर मान्यता देने पर विचार कर रहे हैं. बारह नवंबर से भारत ने सिंगापुर द्वारा टीकाकरण प्रमाणपत्रों को मान्यता देना शुरू कर दिया है.

Lakhimpur kheri Violence Case: आशीष मिश्रा सहित तीन आरोपियों की ज़मानत याचिका खारिज, कोर्ट ने इस आधार पर सुनाया फैसला

Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English Hindi Hindi