कोरोना के कम बैक से डरा बॉलीवुड: विदेशों में फिल्म-वेब सीरीज की शूटिंग जारी लेकिन 83, RRR, पृथ्वीराज जैसी फिल्मों के ओवरसीज बिजनेस पर खतरा

मुंबई31 मिनट पहलेलेखक: हिरेन अंतानी

  • साउथ अफ्रीका में वेब सीरीज ‘पाइरेट्स’ के शूट पर फिलहाल कोई रोक नहीं

साउथ अफ्रीका में मिले कोरोना के नए वैरिएंट ऑमिक्रोन की वजह से बॉलीवुड फिल्मों पर एक बार फिर से संकट के बादल मंडराते नजर आ रहे हैं। अगले दो महीने में 83, RRR और पृथ्वीराज जैसी बड़े बजट की फिल्में रिलीज हो रही हैं। इन फिल्मों की ओवरसीज कमाई में कम हो सकती हैं।

हालांकि, विदेशों में फिलहाल बॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग शेड्यूल जारी है। टाइगर श्राफ की गणपत की शूटिंग इस समय विदेश में हो रही है, वहां शूटिंग के नियम और सख्त हुए हैं लेकिन फिलहाल शूटिंग जारी है। यूरोप में कोरोना के मामले बढ़ने से फिर लॉकडाउन जैसी स्थितियां बन रही हैं, इसके चलते वहां बॉलीवुड फिल्मों का बिजनेस काफी कम रह सकता है। दीपावली पर रिलीज हुई अक्षय कुमार की सूर्यवंशी ने विदेशों में 80 करोड़ का बिजनेस किया है। इससे बाकी मेकर्स को भी कमाई की अच्छी उम्मीद बंधी थी लेकिन अब यहां बिजनेस को लेकर नए सिरे से सोचने की जरूरत है।

साउथ अफ्रीका में वेब सीरीज ‘पाइरेट्स’ की शूटिंग जारी

नए वैरिएंट की वजह से साउथ अफ्रीका सबसे ज्यादा चर्चा में है। लेकिन, फिलहाल वहां वेब सीरीज ‘ पाइरेट्स’ का शूट बायो बबल में जारी है। सीरीज के प्रोड्यूसर शैलेश आर. सिंह ने दैनिक भास्कर को बताया कि यहां सब कुछ सामान्य तरीके से ही चल रहा है। स्थानीय प्रशासन की तरफ से अभी तक हमे कोई नई सूचना या गाइडलाइन नही दी गई है।

इस सीरीज में रजत कपूर और दीपक तिजोरी जैसे आर्टिस्ट काम कर रहे है। अभी एक महीने की शूटिंग बाकी है।

भारत में भी कम हो सकता है बिजनेस

सूर्यवंशी ने भारत में 190 करोड़ से ज्यादा का बिजनेस कर लिया है। ये बॉलीवुड के बिजनेस रिवाइवल की तरह देखा जा रहा था लेकिन कोरोना के बढ़ते डर से इस बात पर फिर संशय है कि फिल्में कितना बिजनेस कर पाएंगी। पिछले सप्ताह रिलीज हुई सलमान खान की अंतिम और जॉन अब्राहम की सत्यमेव जयते-2 पूरे वीकएंड का कलेक्शन 30 करोड़ से कम रहा, जबकि अकेले सूर्यवंशी की पहले दिन की कमाई 26 करोड़ रुपए थी। पिछले 5 दिन से ओमिक्रॉन वैरिएंट का डर लोगों में फिर बना है, इससे सिनेमाघरों में फिर से सख्ती हो सकती है और लोग भी जाने से डरेंगे। बिजनेस एक्सपर्ट्स को आशंका है कि आने वाली फिल्मों के बिजनेस पर इसका खासा असर पड़ सकता है।

83 के क्रिसमस कलेक्शन पर हो सकता है प्रभाव

फिल्म 83 क्रिकेट वर्ल्डकप पर आधारित है, जो कपिल देव की कप्तानी में भारत ने 1983 में जीता था। इसे भारतीय दर्शक तो मिलेंगे ही पर साथ में UK, न्यूजीलैंड, साउथ अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया जैसे क्रिकेट खेलने वाले देशों के क्रिकेट लवर्स भी देखना चाहेंगे। क्रिकेट की ग्लोबल थीम की वजह से यह फिल्म को ओवरसीज में ज्यादा कमाई की उम्मीद है। क्रिसमस की छुट्टियां इसके लिए परफेक्ट टाइमिंग भी थी लेकिन अब बदलते हालात में यह छुट्टियों का फायदा कम हो जाने का डर है।

हमारे मार्केट में अभी सामान्य स्थिति, लेकिन चिंता जरूर है

नैसडेक पर लिस्टेड आईमेक के चेयरमैन शिबाशिष सरकार ने दैनिक भास्कर को बताया कि भारतीय फिल्मों का ओवरसीज मार्केट नॉर्थ अमेरिका, मिडल ईस्ट, UK, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में है। इन देशों के एग्जिबिशन सेक्टर में अभी कोरोना का कोई प्रभाव नहीं है।

लेकिन यह नया स्ट्रैन ओमिक्रॉन जरूर चिंता का कारण है। अगर नए वैरिएंट से या दूसरे किसी फैक्टर से एग्जिबिशन सेक्टर पर कोई प्रभाव होता है तो हम सबको यह स्वीकार करके ही चलना होगा।

पांच विदेशी भाषाओं में आ रही RRR पर दबाव

साउथ की फिल्मों को सिंगापुर और मिडल इस्ट जैसे मार्केट में बहुत अच्छा बिजनेस मिलता है। RRR को अंग्रेजी के अलावा पुर्तगाली, स्पेनिश, तुर्की और कोरियन में भी रिलीज किया जा रहा है। जाहिर है कि इस बड़े बजट की फिल्म को ओवरसीज में अच्छे कलेक्शन की उम्मीद है। अब बदलते माहौल में यह कितना संभव हो पाएगा. इस बारे में अनुमान लगाए जा रहे हैं।

प्राइस रि-निगोशिएट होगी

ट्रेड एक्सपर्ट श्रीधर पिल्लई ने दैनिक भास्कर को बताया कि यूरोप में नए सिरे से लॉकडाउन की स्थिति बन रही है। ऐसे में हिंदी और तमिल फिल्मों के बिजनेस पर असर हो सकता है। इस दौरान वहां थिएटर्स में फुटफॉल कम हो सकता है। इस स्थिति में विदेशी डिस्ट्रिब्यूटर्स प्राइसिंग को फिर से निगोशिएट करना चाहेंगे।

ऐसे माहौल में पोस्टपोन करना सही स्ट्रेटजी

पर्सेप्ट पिक्चर्स कंपनी के फिल्म मार्केटिंग और डिस्ट्रिब्यूशन हेड यूसुफ शेख ने बताया कि अगर विदेश में फिर से लॉकडाउन की स्थिति बनी या लोग थिएटर में जाना नहीं चाहेंगे तो बड़े बजट की फिल्मों के लिए रिलीज पोस्टपोन करना ही सही स्ट्रेटजी रहेगी।

यूसुफ ने बताया कि ‘सूर्यवंशी’ का उदाहरण हमारे सामने है। इस फिल्म से बड़े बिजनेस की संभावना पहले से थी। इसे प्रतिकुल स्थिति में रिलीज करने के बजाय सही समय का इंतजार किया गया और यह स्ट्रेटजी सही साबित हुई। जाहिर है कि बड़े बजट वाली फिल्मों के मेकर्स कोई रिस्क लेना नहीं चाहेंगे।

यूरोप में ज्यादा हो रही है शूटिंग

विदेश में फिल्म शूटिंग के सलाहकार रामजी नटराजन ने बताया कि मैं अभी एक शूटिंग प्रोजेक्ट के लिए यूक्रैन में हूं। राहत की बात यह है कि यहां अब तक कोई नए रिस्ट्रिक्शंस नहीं हैं। लेकिन, नए स्ट्रैन के बारे में पता लगने के बाद सावधानियां बढ़ा दी गई हैं।

नटराजन बताते हैं कि एक अरसे से भारत के फिल्म मेकर्स साउथ अफ्रीका की यूरोप के तुलना में यूक्रेन, पोलैंड और बुल्गारिया जैसे लोकेशंस को काफी पसंद किया जा रहा है। अभी कुछ कहना जल्दबाज़ी होगा लेकिन अगर यूरोप में लॉकडाउन के कदम उठाए जाते हैं तो भारतीय फिल्मों की शूटिंग जरूर प्रभावित हो सकती है।

UK में शूट हो रही हैं दो फिल्में

फिलहाल टाइगर श्राफ और कृति सेनन की ‘गणपत’ और जॉन अब्राहम प्रोडक्शन की ‘तारा वर्सेस बिलाल’ की शूटिंग UK में जारी है। अब तक इन फिल्मों के शूट पर नए वैरिएंट संबंधित किसी भी प्रभाव की कोई खबर नहीं है। शाहिद कपूर अली अब्बास जफर की फिल्म के लिए UAE में शूट कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

Source by [author_name]

CofaNews

All Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *