डिलीवरी को गति देने के लिए अमेज़न ने नेटवर्क बनाया, हॉलिडे क्रंच को हैंडल किया

मिलिए पराग अग्रवाल से जो बने है ट्विटर के नए सीईओ

Star Health IPO : क्या आपको निवेश करना चाहिए? जानिए अभी

Omicron वैरिएंट के मरीजों के ऑक्सीजन स्तर में नहीं दिखी गिरावट

‘जो शीशे के घरों में रहते हैं…’: नवजोत सिंह सिद्धू ने चुनावी वादों को लेकर अरविंद केजरीवाल पर तंज कसा

उच्च शिक्षा विभाग ने जारी किए निर्देश: अब ऑनलाइन पढ़ाई नहीं, 100% क्षमता से कॉलेजों में लगेंगी कक्षाएं

0 0
Read Time:4 Minute, 4 Second

भिंड40 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

18 साल से ऊपर की उम्र के छात्रों काे कोरोना वैक्सीनेशन जरूरी।

काेराेना संक्रमण काल में सुरक्षा के मद्देनजर करीब डेढ़ साल पहले काॅलेजाें में ऑनलाइन शुरू की गई पढ़ाई काे उच्च शिक्षा विभाग ने पूरी तरह से बंद करने का आदेश सभी काॅलेजाें के प्राचार्यों काे जारी कर दिया है। अब काॅलेजाें में पहले की तरह सभी छात्र- छात्राएं फिजिकल कक्षाएं अटैंड कर सकेंगे। लेकिन 18 साल से अधिक आयु के छात्रों के लिए वैक्सीनेशन अनिवार्य किया गया है।

यहां बता दें आसपास के क्षेत्र से आकर शहर में रहने वाले गरीब विद्यार्थी फिर से हाॅस्टल में रह सकेंगे। उन्हें मैस में तैयार भाेजन भी मिल सकेगा। 18 नवंबर काे सामान्य प्रशासन विभाग के एक पत्र का हवाला देते हुए उच्च शिक्षा विभाग के अवर सचिव वीरनसिंह भलावी ने यह आदेश जारी किया है।

काेराेना की स्थिति नियंत्रित हाेने और वैक्सीनेशन का ग्राफ लगातार बढ़ने के बाद सरकार ने 18 नवंबर से काॅलेजाें में ऑनलाइन के बजाय फिजिकल पढ़ाई शुरू कराने के आदेश दे दिए हैं। पहले की तरह कक्षाएं लगेंगी और प्रैक्टिकल भी हाेंगे। लायब्रेरी में भी छात्र-छात्राएं सुरक्षा के साथ बैठकर पढ़ सकेंगे।

छात्रावासों में भी पहले की तरह मिलेंगी भोजन की सुविधा
यूजी व पीजी के छात्रावासाें में रहने व मैस में तैयार भाेजन की भी सुविधा पहले की तरह ही मिल सकेगी। छात्र संगठनाें ने कहा कि सरकार के इस निर्णय से गरीब व मध्यम वर्गीय परिवार के छात्र-छात्राओं काे लाभ हाेगा। उन्हें हाॅस्टल व मैस की सुविधा मिल सकेगी। वहीं सभी काे पहले की तरह पढ़ाई हाे सकेगी।

कॉलेज के गेट पर छात्र का वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र किया जाएगा चेक
काॅलेज आने वाले छात्र-छात्राओं का गेट पर वैक्सीनेशन का प्रमाण पत्र चेक किया जाएगा। 18 साल से अधिक उम्र के विद्यार्थियाें काे तभी प्रवेश मिलेगा, जब वे दाेनाें डाेज लगवा चुके हाेंगे। यदि किसी की उम्र 18 नवंबर 2021 काे 18 साल से कम है ताे उसे काॅलेज में आने की अनुमति हाेगी। सरकार ने यह भी निर्देश दिए हैं कि काॅलेज के पूरे स्टाफ का शत प्रतिशत दाेनाें डाेज लगना पूर्ण हाेना जरूरी है जिससे सभी सुरक्षित रहें।

पूरी क्षमता से काॅलेज लगाने के मिले निर्देश

  • सामान्य प्रशासन एवं उच्च शिक्षा विभाग ने एक पत्र जारी किया है। इसमें 18 नवंबर 2021 से सभी काॅलेजों को पूरी क्षमता के साथ फिजिकल लगाने के निर्देश दिए हैं। 18 साल से अधिक उम्र के सभी छात्र-छात्राओं के लिए वैक्सीनेशन अनिवार्य किया गया है। इससे कम उम्र वाले विद्यार्थियाें के आने पर पाबंदी नहीं रहेगी। – डॉ. अनूप श्रीवास्तव, प्राचार्य, शासकीय एमजेएस पीजी कॉलेज भिंड

खबरें और भी हैं…

Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English Hindi Hindi