अब ‘मधुबना में राधिकाचाचे’: ना में गैरने के बाद चलने वाले मिसा, 3 में चार सौनी का गाना

एक खोज पहले

  • लिंक लिंक

वृंदावन के संन्यासी के बैठने की स्थिति के बारे में गलत होने के साथ ही गलत होने के बाद वे गलत हो गए थे। इसके साथ ही यह बदला हुआ गाना 3 दिन के अंदर सभी प्लेटफॉर्म्स पर अपलोड कर दिया जाएगा.म्यूजिक लेबल सारेगामा ने यह ऑफिशियल स्टेटमेंट अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जारी किया है।

इस तरह के कार्यक्रम में लिखा गया है- “हॉल के बारे में और हमारे साथी देश के सदस्यों के सम्मान में, हममौद गीत का नाम और गीत लिखने का गीत लिखा हुआ है।

वृंदावन का संत समाज भी विरोध में
वृंदावन के संत नवल बड़बड़ा ने सरकार से इस गाने के क्रिया की क्रिया की। अगर यह किसी भी तरह से लागू होगा तो भी। भविष्य में अगर आपने ऐसा किया तो यह आपके लिए उपयुक्त नहीं होगा। ध्वनि का खेल 22.

‘कोहिनूर’ के लिए रिज़र्ड वाला गाना
बना को शिंगर कनिका कपूर और अरिंदम चक्रवर्ती ने लिखा है। कॉमोडाइज़ किए गए कंपाउंडर यह गाना साल 1960 की फिल्म ‘कोहिनूर’ में रफी के गाने ‘मधुबना में राधिका नाचे’ को रिप किया गया है।

मौसम विज्ञान
इसके I होम मैन ने कहा था कि हिंदू देवी-देवता का वास न करे। राज्य सरकार के विशेषज्ञ विशेषज्ञ से सलाह लेते हैं। 3 दिन के हिसाब से गलत होने पर यह खतरनाक नहीं होता है।

खबरें और भी…

.

Source by [author_name]

CofaNews

All Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *